Skip to content

JAIN ACCOUNTS

Home » Market Capitalization को विस्तार से समझे।

Market Capitalization को विस्तार से समझे।

Basics details about market Capitalisation

अगर आप शेयर मार्केट में पैसा निवेश करते है तो आपने जरूर Market Capitalization के बारे में सुना होगा। अगर आप इसके बारे में नहीं जानते तो आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से Market Capitalization के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने का प्रयास करेंगे।

अगर आप शेयर बाजार के बारे में नही जानते या उसको गलत समझते हैं तो आपको एक बार शेयर बाजार के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहिए। इसके लिए आपको नीचे दिए गए हमारे इस लेख अवश्य पढ़ना चाहिए।

stock exchange knowledge

Market Capitalization एक निवेश के संदर्भ में महत्वपूर्ण आंकड़ा है। जो एक कंपनी या वित्तीय उद्यम की मान स्थानीय और वैश्विक बाजार में मापने का तरीका है।

यह आंकड़ा कंपनी के सभी शेयरों की बाजार मूल्य का समग्र आकलन करता है। जिससे उसकी मौजूदा मूल्य की महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होती है।

Market cap से हम यह समझ सकते हैं कि एक कंपनी कितनी बड़ी या छोटी है और बाजार में कितना प्रभाव डाल सकती है। यह निवेशकों को उचित तरीके से विचार करने और निवेश करने में मदद करने के लिए एक महत्वपूर्ण tool है।

आज हम आपको market Capitalization के बारे में विस्तृत जानकारी देंगें। जिससे आपको किसी कंपनी का विश्लेषण करने में आसानी हो। तो चलिये शुरू करते है।

Keywords
What is market capitalization in stock market?
What is meant by Market capitalization?
how market capitalization is calculated?
Why market capitalization is important?
How many types of market capitalization?
How market capitalization impact share market?
what is free float market capitalization?
How to check market capitalization?

Market Capitalization क्या होता है ?

Market capitalization एक कंपनी की संपूर्ण वित्तीय मूल्यांकन को मापने का एक तरीका है। जो उसके सभी शेयरों की मूल्य को शामिल करता है। इसे बाजार मूल्य भी कहा जाता है। इसे निर्धारित करने के लिए शेयर की मूल्य को उसकी कुल विमूद्रीकृत संख्या से गुणित किया जाता है।

Market Capitalization का मतलब होता है शेयर बाजार में company की value क्या है। सीधे शब्दों में कहे तो वर्तमान समय मे शेयर बाजार की सूचीबद्ध किसी कंपनी की market value क्या है इस चीज की जानकारी को Market Capitalization कहते है।

चलिये इसकों हम एक उदहारण के रूप में समझते है

यदि किसी कंपनी के पास 1,00,000 शेयर हैं और प्रति शेयर की मूल्य $50 है। तो इस कंपनी की Market Cap होगी $50 * 1,00,000 = $5,000,000। इससे यह समझा जा सकता है कि उस कंपनी का समृद्धि मौद्रिक रूप से $5 मिलियन है।

अर्थात Market capitalization किसी व्यापारिक संस्था या साझेदारी का कुल मूल्य होता है। यह उस संस्था के सभी शेयरों की मौद्रिक मूल्य का योग होता है जिसे बाजार में उपलब्ध होने वाले सभी शेयरों को मिलाकर निकाला जाता है।

Market Capitalization की गणना कैसे होती हैं।

कई लोग market Capitalization calculation करना नही जानते हैं। इसलिए निवेश करते समय वह गलत शेयर में अपनी राशि लगा देते हैं। बाजार पूंजीकरण गणना करना बहुत आसान हैं। चलिए जानते हैं कि किसी कंपनी का मार्केट कैप कैसे निकाला जाता है?

Calculation of Market cap = Current Stock Price × Total Outstanding Shares

Market Capitalization formula
  • Market Cap” वर्तमान स्टॉक की मूल्य को उसके कुल शेयरों से गुणा करके प्राप्त होता है।
  • Current Stock Price” वह मूल्य है जिसमें बाजार में व्यापार हो रहा है। जिसे प्रति शेयर में निर्दिष्ट किया जाता है।
  • Total Outstanding Shares” कंपनी की कुल शेयरों की संख्या है जो बाजार में उपलब्ध हैं और जो निगमित हैं।

Market Capitalization का महत्त्व क्या हैं?

निवेशकों के लिए बाजार पूंजीकरण का महत्त्व अधिक होता हैं। क्योंकि यह company Market value दर्शाता हैं। Market Capitalization (Market Cap) का महत्त्व विभिन्न पहलुओं से उत्पन्न होता है और यह निम्नलिखित कारणों से महत्वपूर्ण है:

  • कंपनी का मूल्यांकन: Market Cap के माध्यम से किसी कंपनी का विश्लेषण करना निवेशकों को उसकी मौद्रिक स्थिति और बाजार में उसकी स्थिति का मूल्यांकन करने में मदद करता है।
  • निवेशीय जोखिम का मूल्यांकन: small Market cap वाली कंपनियाँ अक्सर जोखिमपूर्ण होती हैं। लेकिन उनमें अधिक वृद्धि का संभावना होती है। जबकि large market cap वाली कंपनियाँ सामान्यत: स्थिर होती हैं।
  • निवेशीय विभिन्नीकरण: विभिन्न Market Caps की कंपनियों में निवेश करके निवेशक अपने portfolio को सुरक्षित बना सकते हैं। क्योंकि यह विभिन्न उद्योगों और क्षेत्रों में निवेश की संभावना प्रदान करता है।
  • बाजार की सामान्य अवस्था का मूल्यांकन: बड़ी मार्केट कैप वाली कंपनियों की सामान्यता स्थिरता और बड़े बाजारों में सांठ घुमाने की क्षमता को दर्शाती है, जो निवेशकों को बाजार की स्वास्थ्य पर विचार करने में मदद करता है।
  • निवेश के लिए रणनीति तैयार करना: Market Cap निवेशकों को उनकी रणनीति को सहारा देने में मदद करता है। क्योंकि यह उन्हें जोखिम, लाभ, और वृद्धि की सामान्य दिशा में मार्गदर्शन करता है।
  • शेयरबाजार में पहचान बनाए रखना: Market Cap के माध्यम से निवेशकों को यह स्थिति समझने में मदद मिलती है कि वह शेयरबाजार में दुनिया भर में किस प्रकार से उपस्थित हैं।
  • लाभ और उत्साह का मूल्यांकन: Market Cap निवेशकों को बताता है कि वह किस प्रकार के लाभ और उत्साह की उम्मीद कर सकते हैं? बड़ी मार्केट कैप वाली कंपनियाँ सामान्यत: स्थिर और लाभकारी होती हैं। जबकि छोटी मार्केट कैप वाली कंपनियाँ ज्यादा उत्साही और जोखिमपूर्ण हो सकती हैं।
  • निवेशीय पोर्टफोलियो का संरचना: Market Cap निवेशकों को उनके पोर्टफोलियो को संरचित करने में मदद करता है और उन्हें अपने निवेशों को विभिन्न अनुभागों में वितरित करने का सुझाव देता है।
  • कंपनी की चुनौतियों का मूल्यांकन: Market Cap निवेशकों को बताता है कि वह किस प्रकार की चुनौतियों का सामना कर रहे हैं? जैसे कि अगर कंपनी ने हाल ही में बड़ी मात्रा में नए stock जारी किए हैं या यदि कोई महत्वपूर्ण कंपनी ने हाल ही में मर्जर या अधिग्रहण किया है।
  • बाजार की प्रवृत्तियों की समझ: Market Cap के माध्यम से निवेशकों को बाजार की प्रवृत्तियों की समझ में मदद मिलती है, जैसे कि छोटी मार्केट कैप वाली कंपनियों में हो सकने वाली तेजी वृद्धि या बड़ी मार्केट कैप वाली कंपनियों में दृढ़ता और स्थिरता।

इन सभी कारणों से Market Capitalization निवेशकों के लिए एक उपयुक्त मापदंड है जो उन्हें उचित निवेश के निर्णय लेने में मदद करता है। यह उन्हें बाजार की स्थिति को समझने में मदद करता है। और उन्हें निवेश के लिए सही निर्णय लेने में मदद करती है। अब आपको पता चल गया होगा कि मार्केट कैप क्यों जरूरी है?

Market Capitalization कितने प्रकार के होते हैं?

बाजार पूंजीकरण को श्रेणित करने के लिए आमतौर पर तीन मुख्य श्रेणियां होती हैं:

  • Large-Cap (बड़ी कैप):
    • मार्केट कैपिटलाइजेशन की सबसे बड़ी श्रेणी होती है।
    • बड़ी कैप कंपनियाँ बाजार के सबसे बड़े होती हैं और इसलिए सामान्यत: स्थिर होती हैं।
    • इनमें बड़ी बैंक, उद्योग, और तकनीकी कंपनियाँ शामिल हो सकती हैं।
  • Mid-Cap (मध्यम कैप):
    • मार्केट कैपिटलाइजेशन की मध्यम श्रेणी की कंपनियाँ होती हैं।
    • मध्यम कैप कंपनियाँ बड़ी कैप कंपनियों की तुलना में थोड़ी अधिक जोखिमपूर्ण हो सकती हैं, लेकिन उनमें वृद्धि की संभावना भी ज्यादा होती है।
  • Small-Cap (छोटी कैप):
    • ये कंपनियाँ मार्केट कैपिटलाइजेशन की सबसे छोटी श्रेणी में आती हैं।
    • छोटी कैप कंपनियाँ जोखिमपूर्ण हो सकती हैं, लेकिन इनमें ज्यादा वृद्धि की संभावना रहती है।
    • इनमें नई और छोटी कंपनियाँ, स्थानीय उद्यमिता, और नवीनतम उद्योग कंपनियाँ शामिल हो सकती हैं।

ये श्रेणियाँ निवेशकों को उनकी निवेश रणनीतियों को समझाने में मदद करती हैं और उन्हें उनकी जोखिम प्राथmikता और लाभ की संभावना के साथ विभिन्न विकल्पों का चयन करने में सहारा प्रदान करती हैं। आइए इसको विस्तार से समझते हैं

Market Capitalization शेयर बाजार को कैसे प्रभावित करता हैं?

Does Market Capitalization impact share market? यह प्रश्न सामान्य रूप से पूछा जाता हैं। बाजार पूंजीकरण (Market Cap) में स्टॉक मूल्यों के परिवर्तनों का प्रभाव विभिन्न प्रतिभागों और निवेशकों पर होता है।

स्टॉक मूल्यों के परिवर्तनों से Market Capitalization पर सीधा प्रभाव पड़ता है। और इसके माध्यम से निवेशकों और आर्थिक विश्लेषकों को बाजार की स्थिति और कंपनियों की स्वास्थ्य के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होती है।

Market Capitalization में स्टॉक मूल्यों के परिवर्तनों का प्रभाव बहुत ही महत्वपूर्ण है। स्टॉक मूल्यों की बदलती दिशा Market Cap को सीधे प्रभावित करके उसकी मौद्रिक मूल्यांकन में बदलाव पैदा कर सकती है।

जब स्टॉक मूल्यें बढ़ती हैं तो Market Cap भी बढ़ती है। जिससे कंपनी का अच्छा आर्थिक स्वास्थ्य और वित्तीय स्थिति दिखती है। इससे निवेशकों को आत्मविश्वास मिलता है और वे निवेश करने में अधिक रुचि रखते हैं।

इसके विपरीत स्टॉक मूल्यों में कमी से Market Cap घट सकती है। जिससे निवेशकों का आत्मविश्वास कम होता है और वे निवेशों में सावधानी बरतते हैं। इस प्रकार स्टॉक मूल्यों के परिवर्तन सीधे रूप से Market Cap को प्रभावित करके निवेशकों को बाजार की स्थिति के बारे में सूचित करते हैं और उन्हें निवेश के लिए सही निर्णय लेने में मदद करते हैं।

Free Float Market Capitalization क्या होता है ?

Free Float Market Capitalization का मतलब कंपनी की total Market value of Freely Tradable share से होता है। जो कि बाजार में बिना किसी रूकावट के आराम से बेचे और खरीदे जा सकते है। ऐसे शेयर को हम कंपनी की Free Float Market Capitalization कहते है।

यहां पर हो सकता है कि Freely का मतलब आप ये समझ रहे हो की ये कंपनी की शेयर बिल्कुल मुफ्त है। लेकिन वास्तिवकता मे ऐसा नहीं है। क्योंकि ये कंपनी के शेयर बिल्कुल मुफ्त नहीं है। बल्कि कंपनी के ये शेयर बिना किसी रोक टोक खरीदे और बेचे जा सकते है।

आपकी जानकारी के लिये बता दे कि कंपनी के total share value के मुकाबले Freely Tradable share की value हमेशा कम होती है।

अगर हम सीधे शब्दों में कहे तो Free Float Market Capitalization उस कंपनी के बाजार पूंजीकरण से कम ही होता है। क्योंकि market Capitalization एक कंपनी के Total Number Of share की Total Market Value को दर्शाता है। जबकि Free Float Market Capitalization उस कंपनी के Freely Tradable shares की Total Market Value को दिखता है।

Market Capitalization को check कैसे किया जाता हैं?

अत्यधिक लोगों के मन में यह विचार अवश्य आता हैं कि हम कैसे किसी भी कंपनी का बाजार पूंजीकरण Check कर सकते हैं? अब हम आपको ये बताने जा रहे है कि किसी भी company का बाजार पूंजीकरण का पता कैसे करें?

इसके लिए आपको Ticker finology की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। वहा पर search option में किसी भी company का नाम लिखकर उसके बाजार पूंजीकरण को जान सकते हैं।

और अगर आप Free Float Market Capitalization को check करना चाहते हैं। तो इसके लिए NSE की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। वहा Search Option में किसी कंपनी का नाम लिखकर आप पता कर सकते हैं।

Frequently Asked Questions

क्या market Capitalization किसी कंपनी का वास्तविक मूल्य होता हैं?

किसी भी कंपनी का बाजार मूल्य इसके वास्तविक मूल्य से भिन्न हो सकता हैं। क्योंकि company Market value परिवर्तित रहेगी लेकिन उसके वास्तविक मूल्य में कभी परिवर्तन नहीं होगा।

भारत में किस बैंकिंग स्टॉक का बाजार पूंजीकरण सबसे अधिक है?

भारतीय शेयर बाजार में HDFC Bank market Capitalization 10 Trillion INR से अधिक हैं।

बाजार पूंजीकरण के आधार पर सबसे बड़ी भारतीय कंपनी कौनसी है?

Market Capitalization of Reliance Industries = लगभग 20 trillion INR

बाजार पूंजीकरण के आधार पर सबसे बड़ी अमेरिकी कंपनी कौनसी है?

USA में highest market Capitalization वाली कंपनी Microsoft हैं जिसका market Capitalization लगभग 3 trillion USD हैं। apple market Capitalization भी लगभग 3 trillion USD के साथ द्वितीय स्थान पर हैं।

निष्कर्ष

आज हमने इस लेख के माध्यम से market Capitalization को समझने का प्रयास किया हैं। इस लेख के माध्यम से हमने market Capitalization के प्रकार, महत्त्व और गणना के बारे में जाना।

हमने market Capitalization impact on share market को भी समझाने का प्रयास किया हैं। जिससे आपको share market में होने वाले उतार चढ़ाव को भी समझने में आसानी हो।

अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी राय या प्रश्न हो तो हमारी साथ टिप्पणी के माध्यम से सांझा अवश्य करें। आपकी प्रतिक्रिया हम आपके लिए और अधिक महत्वपूर्ण लेख लिखने के लिए प्रेरित करते हैं।

व्यापार, वित्तीय, लेखांकन और कराधान से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारा आवास बनाएं। अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो अपने मित्रों और विरासत से सांझा अवश्य करें।

1 thought on “Market Capitalization को विस्तार से समझे।”

  1. Pingback: Fundamental की शेयर बाजार में क्या भूमिका हैं? - JAIN ACCOUNTS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized by Optimole