Skip to content

JAIN ACCOUNTS

Home » What is difference between small, mid and large market Capitalization?

What is difference between small, mid and large market Capitalization?

What is difference between different types of market capitalisation?

पिछले लेख में आपको market Capitalization के बारे में जानकारी दिया था। लेकिन आज हम इस लेख में बात करेगें कि What is difference between small, mid and large market Capitalization?

जैसा कि आप जानते हैं कि शेयर बाजार में किसी भी निवेशक के लिए कंपनी का बाजार पूंजीकरण कितना महत्त्व रखता हैं। यह आपको सदैव अच्छी गुणवत्ता वाले शेयर खरीदने के लिए प्रेरित करते हैं।

अगर आप market capitalization के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमने इस विषय पर विस्तार से जानकारी दिया हैं। आप उस लेख के माध्यम से market capitalization details में जान सकते हैं।

वहा पर हमने market capitalization types के बारे में कुछ उपयोगी जानकारी सांझा किया हैं। जिन्हे हम आज और विस्तार से समझने का प्रयास करेंगे। जिससे हम अच्छे शेयर में निवेश कर सकें।

Keywords
How many types of market Capitalization?
What is large market Capitalization?
What is mid market Capitalization?
What is small market Capitalization?
What is giga market Capitalization?
What is mega market Capitalization?
What is micro market Capitalization?
What is Nano Market Capitalization?
What is limits of market capitalization?

Market Capitalization से हमें किसी भी कंपनी के बारे में क्या पता चलता है?

Market Capitalization से हमे कंपनी के growth के बारे में जानकारी हो जाती है। इससे हमे यह पता चलता है कि कंपनी कितनी बड़ी है या फिर कंपनी कितनी छोटी है। अगर हम चाहे तो सिर्फ दो कंपनी के Market Capitalization से इस बात का अंदाजा लगा सकते है की कौनसी कंपनी की बाजार की क़ीमत ज़्यादा है किसकी कम है।

Market cap से आपको कंपनी के ग्रोथ के बारे में जानकारी हो जाती है। जैसे कि कंपनी की market value इसकी actual value से कितना अधिक चल रहा हैं। इससे हमें सही कंपनी में पैसे निवेश करने की जानकारी मिलती है।

लेकिन अगर आप सिर्फ market cap के आधार पर कंपनी में पैसा निवेश करने जा रहे है तो आप बिल्कुल ऐसा ना करे। क्योंकि इससे आपको सिर्फ कंपनी के price growth की जानकारी होती है ना कि हमे कंपनी के future के बारे में जानकारी उपलब्ध होती है।

जो व्यक्ति शेयर बाजार में नया हैं। इसके लिए निवेश करने से पहले ये समझना आवश्यक हैं कि शेयर में बाजार पूंजीकरण क्या होता हैं? आपके लिए कौनसा बाजार पूंजीकरण अच्छा होता हैं? किसमे अधिक आय या अधिक जोखिम हैं।

अलग अलग तरह के बाजार पूंजीकरण विकास क्षमता और जोखिम के मामले में एक दूसरे से भिन्न हैं। जिनको आप इस लेख में और विस्तार से जानकर अपनी निवेश नीति में उपयोग कर सकते हैं।

सामान्य निवेशक हो या अनुभवी निवेशक। निवेश करने से पहले आपके मन में यह प्रश्न अवश्य आता होगा कि किस stock में निवेश करने पर अधिक आय प्राप्त होगा या नुकसान नहीं होगा। किसी भी शेयर में निवेश करने से पहले आपको उसके बारे में पर्याप्त ज्ञान होना चाहिए।

market capitalization ranking कैसे होती हैं?

market capitalization एक वित्तीय मापक है जो एक कंपनी के विपणि मूल्य और उसकी विपन्न शेयरों की कुल संख्या को गुणा करके प्राप्त होती है। यह एक कंपनी की बाजार मूल्य की एक सार्मथ्यात्मक प्रतिनिधित्व है और बाजार में उपस्थित कंपनियों के बीच तुलना करने का एक तरीका प्रदान करती है।

यह एक कंपनी की अच्छी स्थिति और बाजार में उसकी महत्वपूर्णता का मापक हो सकती है, लेकिन यह एकमात्र मापक नहीं है और अन्य अंशों के साथ मिलाकर देखा जाना चाहिए।

market capitalization के आधार पर कंपनियों को बड़ी, मध्यम, और छोटी बोला जा सकता है, जो निवेशकों को बाजार में उपस्थित विभिन्न कंपनियों की तुलना करने में मदद करता है। एक कंपनी की market capitalization के बदलते पैटर्न्स और यह कैसे बदल सकती है, इससे निवेशकों को बाजार की गतिविधियों को समझने में मदद मिलती है।

शेयर बाज़ार कितने प्रकार के होते हैं

अलग अलग देशों में अपने तरीके से market cap को संबोधित किया जाता हैं। आज हम इस लेख में सभी प्रकार के market कैफइसके कुल तीन प्रकार हैं

  • Large cap
  • Mid cap
  • Small cap

इसके अलावा कई शेयर बाजार में और तीन प्रकार को पेश किया गया हैं।

  • Giga cap
  • Mega cap
  • Micro cap

Giga Market Capitalization क्या हैं?

इसमें कंपनी का बाजार पूंजीकरण Trillion Million USD में होता हैं। Giga cap कंपनिया अधिक स्थिर अवस्था में रहती हैं। वहा risk नही होता हैं और आय वृद्धि भी धीरे धीरे होती हैं।

Mega market Capitalization क्या हैं?

ऐसी कंपनी जिनका Market Capitalization Large Cap से कही ज़्यादा और giga cap से थोड़ा कम होता हैं। ऐसी कंपनियों को mega cap कहा जाता है।

Large market Capitalization क्या हैं?

जिसमे कंपनी का बाजार पूंजीकरण $10B से अधिक हो तो वह कंपनी बड़े बाजार पूंजीकरण के अन्तर्गत आती हैं। यह अधिकतर स्थिर अवस्था में होती हैं। जिनसे इनके शेयर मे कम उतार चढ़ाव होता हैं। और यह लोगों का अधिक भरोसा जीत पाती हैं।

किन्तु भारत में SEBI द्वारा large cap में देश की top 100 Market value company को शामिल किया गया हैं। अर्थात भारत में बाजार पूंजीकरण की सूची में शीर्ष 100 पर आने वाली कंपनी को large cap company कहा जाता हैं।

यह कंपनिया अधिक स्थिर होने के कारण बाजार में महत्त्वपूर्ण भूमिका रखती हैं। मंदी के दौरान यह खुद को संभालकर रखती हैं। जैसे Tata Group, Reliance Group, Adani Group।

Mid market capitalization क्या हैं?

जिसमे कंपनी का बाजार पूंजीकरण $2B से $10B के मध्य होता हैं। मध्यम बाजार पूंजीकरण के अन्तर्गत आने वाली कंपनी में उतार चढाव होते रहते हैं। किंतु इसमें लोगों का भरोसा बना रहता हैं।

वही अगर हम SEBI की बात करे तो वो MID CAP मै ऐसी कम्पनियों को रखती है जो कि Market Capitalization के आधार पर पूरे देश की TOP 101 से लेकर 250 तक होती है।

Small market Capitalization क्या हैं?

इसमें कंपनी का बाजार पूंजीकरण $2B से कम होता हैं। छोटे बाजार पूंजीकरण वाली कंपनी में उतार चढ़ाव अधिक मात्रा में होते हैं। जिससे निवेशकों के मध्य भय बना रहता हैं। हालांकि इसमें return भी अच्छा मिलता हैं।

Nano Market Capitalization क्या हैं?

इसमें कंपनी का बाजार पूंजीकरण $50B से भी कम होता हैं। इस तरह की कंपनी में उतार चढ़ाव तेजी से होता हैं। इसमें आप कुछ दिनों में अच्छा पैसा कमा सकते हैं और नुकसान भी कर सकते हैं।

Micro market Capitalization क्या हैं?

ऐसी कंपनी जिनकी Market Capitalization small कंपनी से कम होती है। उंन्हे micro cap कंपनी कहा जाता है। आम नागरिक इसे penny stocks भी कहते हैं। जो अधिक risk के साथ कम आय उत्पन्न करते हैं।

Market Capitalization limits क्या हैं?

बाजार पूंजीकरण किसी वित्तीय उत्पाद, गतिविधि या कंपनी की वाणिज्यिक मूल्यांकन को मापने का एक तरीका है। यह एक उत्पाद, गतिविधि या कंपनी के सम्पूर्ण मूल्य को मात्रा की दृष्टि से दर्शाता है और इसे वित्तीय बाजार की विशालता की एक अंश के रूप में प्रस्तुत करता है।

इसकी सीमा विभिन्न बाजारों और निवेश विकल्पों के आधार पर बदल सकती है। एक बड़े शेयर बाजार या stock exchange में एक कंपनी की market cap को उसकी कुल शेयरों की मौजूदा मूल्य से मिलाकर प्राप्त किया जा सकता है।

इसका एक प्रमुख उद्देश्य यह है कि यह निवेशकों को बताता है कि एक कंपनी, उत्पाद या गतिविधि की कुल मूल्य कितनी है और इससे उन्हें विभिन्न निवेश विकल्पों की तुलना करने में मदद मिलती है।

इसकी सीमा के परिणामस्वरूप, निवेशकों को यह समझने में आसानी हो जाती है कि एक निवेश का आकार और महत्व क्या है। एक बड़ी मार्केट कैप वाली कंपनी आमतौर से ज्यादा स्थिरता और निवेश के लिए सुरक्षितता का संकेत कर सकती है, जबकि एक छोटी मार्केट कैप वाली कंपनी का निवेश ज्यादा जोखिम भरा हो सकता है।

इस प्रकार, मार्केट कैप निवेशकों को उचित और समर्थनीय निवेश की स्थिति की समीक्षा करने में मदद करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यह निवेश योजनाएं बनाने और संरक्षित निवेश विकल्पों का चयन करने में सहारा प्रदान करती है, जो निवेशकों को अपने वित्तीय लक्ष्यों की प्राप्ति में मदद कर सकती है।

Frequently Asked Questions

विश्व में सबसे बड़ी बाजार पूंजीकरण वाली कंपनी कौनसी हैं?

World number one richest company Apple हैं। जिसका market cap 2.59 trillion हैं। जो USA की सबसे बड़ी कंपनी हैं।

भारत में सबसे बड़ी market Capitalization वाली कंपनी कौनसी हैं?

Reliance Industries

चीन की सबसे बड़ी Market cap वाली कंपनी कौनसी हैं?

Tencent

Europe Union की सबसे बड़ी market Capitalization वाली कंपनी कौनसी हैं?

Novo Nordisk

विश्व में सबसे अधिक बाजार पूंजीकरण वाला देश कौनसा हैं?

United States of America

विश्व में सबसे अधिक बाजार पूंजीकरण वाला stock exchange कौनसा हैं?

New York Stock Exchange

Indian stock market capitalization कितना हैं?

 4,378,993.419 USD

world market capitalization कितना हैं?

सभी stock market का बाजार पूंजीकरण लगभग 200 trillion USD हैं। जिसमे से top 25 Stock Exchange का market capitalization 100 trillion से अधिक हैं।

निष्कर्ष

इस लेख में हमने market capitalization के सभी प्रकारों के बारे में जानकारी प्राप्त किया। साथ ही हमने सभी देशों के संपूर्ण बाजार पूंजीकरण के बारे में जानकारी प्राप्त किया।

हालांकि बाजार पूंजीकरण का मुख्य लक्ष्य निवेशकों को उच्च लाभ कमाने में मदद करना है। किंतु इसमें जोखिम भी शामिल है। इसमें संघटन, संगठन, और वित्तीय विनियमन की महत्वपूर्ण भूमिका है।

बाजार पूंजीकरण समाज, अर्थशास्त्र, और राजनीति में गहरा प्रभाव डाल सकता है, इसलिए इसकी अच्छी समझ हमारे समृद्धि के लिए महत्वपूर्ण है।

इस लेख में हमने बाजार पूंजीकरण की एक सारांशिक झलक प्रस्तुत की है। जिसमें इसकी मुख्य विशेषताएं, कारण, प्रमुख प्रकार, और निवेशकों के लिए उपयुक्तता को समाहित किया गया है।

अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी राय या प्रश्न हो तो हमारी साथ टिप्पणी के माध्यम से सांझा अवश्य करें। आपकी प्रतिक्रिया हम आपके लिए और अधिक महत्वपूर्ण लेख लिखने के लिए प्रेरित करते हैं।

व्यापार, वित्तीय, लेखांकन और कराधान से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारा आवास बनाएं। अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो अपने मित्रों और विरासत से सांझा अवश्य करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized by Optimole