Skip to content

JAIN ACCOUNTS

Home » ब्लॉगिंग के लाभ और हानि

ब्लॉगिंग के लाभ और हानि

Blogging k fayde aur nuksan

Blog Series के इस लेख में हम जानेंगे कि blogging के लाभ क्या हैं? Blogging profits की बात करें तो ब्लागिंग लाभ के मामले में आप अच्छी आय उत्पन्न कर सकते हैं।

वर्तमान में ब्लॉगिंग के बारे में लगभग सभी इंसान जानते ही है और काफी सारे इंसान ब्लॉगिंग को शुरू करने की चाहत भी रखते है।

अगर आप भी ब्लॉगिंग शुरू करना चाहते है तो आपको पहले ब्लॉगिंग के बारे में महत्त्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करनी होगी। जैसे ब्लॉगिंग कैसे शुरू करें, ब्लॉग कितने प्रकार के होते है और ब्लॉगिंग के फायदे और नुकसान कौन कौन से है? इत्यादि।

पिछले लेख में हमने आपको ब्लॉगिंग के बारे में मूल जानकारी उपलब्ध कराई है। आज हम आपको अपने इस लेख में ब्लॉगिंग के फायदे और नुक्सान के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है। 

आज के समय में काफी सारे इंसान ऐसे है जिन्होंने ब्लॉगिंग के लिए अपनी जॉब छोड़ दी है और ब्लॉगिंग से वह काफी मोटा पैसा कमा रहे है। अगर आप नही जानते कि ब्लॉगिंग क्या है? तो इस link पर जाकर हमारा लेख पढ़े।

तो चलिए जानते हैं Blogging Ke Fayde or nuksan. 

Keywords
What is advantage and disadvantage of Blogging?
What is pros and cons of Blogging?
What are profits and losses in Blogging?

ब्लॉगिंग के लाभ क्या हैं?

ब्लॉगिंग के फायदे बहुत सारे होते है जिनमे से कुछ फायदों के बारे में हम आपको नीचे जानकारी उपलब्ध करा रहे है 

Explore learning: ब्लॉगिंग से आपको कुछ नया सिखने को मिलता है?

जब कोई भी इंसान blogging शुरू करता है तो blogger पहले अपनी जानकारी और अनुभव के आधार पर content शेयर करता है। 

प्रत्येक blogger की चाहत होती है कि वह लोगों के लिए हमेशा अच्छी और मददगार जानकारी उपलब्ध करें। जिसके लिए blogger खुद भी नए नए topic के बारे में पढता है और जानकारी प्राप्त करने के बाद content upload करता है। 

सरल भाषा में समझे तो मान लीजिए कोई blogger travel पर blog बनाता है तो जिन जगहों के बारे में ब्लॉगर को अच्छी जानकारी होती है शुरुआत में वह उन जगहों के बारे में content upload कर देता है। 

लेकिन एक समय ऐसा आता है जब blogger को समझ में नहीं आता है कि वह किस जगह का content upload करें ऐसे में ब्लॉगर नई नई जगह के बारे में जानकारी प्राप्त करता है। 

जानकारी प्राप्त करने के बाद ब्लॉगर अपने ब्लॉग में नया content upload करता है। इसीलिए हम कह सकते है कि ब्लॉगिंग की वजह से ब्लॉगर को भी काफी कुछ नया सिखने को मिलता है। 

Unique ideas: नए नए आइडिया आते है 

ब्लॉगर अपने ब्लॉग को बेहतर बनाने के साथ साथ content को interesting बनाने के लिए नए नए Idea लगाता है। ब्लॉगिंग की वजह से इंसान की सोचने और समझने की क्षमता में काफी ज्यादा विकास होता है। 

ब्लॉगर के मुकाबले आम इंसान की बात करें तो वह अपनी जानकारी को बढ़ाने पर ज्यादा जोर नहीं देता है और दूसरी तरफ ब्लॉगर अपने content और ब्लॉग को आकर्षित और बेहतर बनाने के लिए नए नए experiment करते रहते है। 

Confidence लेवल बढ़ता है 

Blogging करने का एक फायदा यह भी है कि ब्लॉगिंग से आपका cofidence level काफी ज्यादा बढ़ता है। यह तो हम सभी अच्छी तरह से जानते है कि जब कोई भी इंसान किसी भी काम को लगातार करता रहता है तो उस इंसान को उस काम में महारत हासिल हो जाती है। 

काफी सारे इंसान जोश में ब्लॉगिंग तो शुरू कर देते है, लेकिन जब वह ब्लॉग लिखना शुरू करते है तो उनसे ब्लॉग सही से नहीं लिखा जाता है या दो चार लेख करने के बाद वह ब्लॉगिंग छोड़ देते है।

लेकिन जो ब्लॉगर ब्लॉगिंग नहीं छोड़ते है धीरे धीरे उनका confidence level काफी बढ़ता जाता है और कुछ समय बाद वह बेहतरीन content लिखने लगते है। 

Alternative work: नौकरी के साथ भी ब्लॉगिंग भी कर सकते है 

अधिकतर इंसान यह सोचते है कि ब्लॉगिंग करने के लिए खाली समय होना चाहिए या ब्लॉगिंग वह कर सकता है जो नौकरी नहीं करता है। हालाँकि यह सच नहीं है ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए आपको नौकरी छोड़ने की जरुरत नहीं है।

ब्लॉगिंग को आप नौकरी के साथ भी आसानी से कर सकते है। नौकरी से आने के बाद जब भी आपको समय मिले आप content लिख कर अपलोड कर सकते है या आप weekend पर content लिख सकते है। 

Income source: ब्लॉगिंग से आप आय भी कर सकते है

आज के समय में बहुत सारे ऐसे ब्लॉगर है जो ब्लॉगिंग से बहुत अच्छा पैसा कमा रहे है। काफी सारे ब्लॉगर ने शुरुआत में जॉब के साथ ब्लॉगिंग शुरू की और जब उन्हें ब्लॉगिंग से अच्छा पैसा मिलने लगा तब उन्होंने जॉब छोड़ कर फुल टाइम ब्लॉगिंग में दिया है। 

लेकिन इसका मतलब यह ना समझे की ब्लॉग बनाते ही आपकी आय शुरू हो जाती है। ब्लॉगिंग से पैसा कमाने के लिए आपको समय लगता है। कड़ी मेहनत के बाद ही आप ब्लॉगिंग से पैसा कमा सकते है। 

दरअसल जब आप ब्लॉगिंग शुरू करते है तो शुरुआत में आपके ब्लॉग पर लोग नहीं आते है। जैसे जैसे आप अपने ब्लॉग content लिखते जाते है वैसे वैसे धीरे धीरे ब्लॉग पर लोग आने शुरू होते है। 

जब आपके ब्लॉग पर visitors आना शुरू हो जाते है तो आपकी आय भी शुरू हो जाती है। आज के समय में बहुत सारे ब्लॉगर ऐसे है जो प्रत्येक महीने हजारो या लाखो में कमा रहे है। 

Personal growth: आप दुसरो की परेशानी का समाधान भी कर सकते है 

यह तो हम सभी अच्छी तरह से जानते है कि वर्तमान में अधिकतर इंसान अपने जीवन में आने वाली काफी सारी परेशानियों का समाधान google पर search करते है। 

जब इंसान google पर search करता है तो google काफी सारी website और blog को दिखाता है। ऐसे में अगर आपका blog दिखाई देता है तो आपके ब्लॉग पर भी ट्रैफिक आने लगता है।

ऐसे में आपके ब्लॉग पर आने वाले लोगों को अपनी परेशानी का समाधान मिलता है। और आपकी personal growth improvements होता हैं।

आसान भाषा में समझे तो मान लीजिए आपका ब्लॉग cooking से सम्बंधित है और कोई इंसान cooking से सम्बंधित परेशानी का समाधान ढूंढ़ते हुए आपके ब्लॉग पर आ जाता है।

आपके ब्लॉग पर उस इंसान को अपनी परेशानी का समाधान मिल जाता है तो आप इस तरह से अपने ब्लॉग के माध्यम से लोगों की परेशानी को दूर कर सकते है।

Be your own boss: आप खुद बॉस होते है 

अधिकतर इंसान किसी ना किसी company या factory या shop इत्यादि में नौकरी करते है। नौकरी में आप किसी ना किसी manager या मालिक के नीचे काम करते है। नौकरी में आपके ऊपर काम करने का pressure और उल्टा सुनने का pressure रहता है। 

नौकरी की वजह से इंसान मानसिक रूप से परेशान रहता है लेकिन अगर आप ब्लॉगिंग करते है तो आप यहाँ boss बनकर रहते है। ब्लॉगिंग में आप किसी के नौकर नहीं है बल्कि आप खुद मालिक होते है। 

No language limitations: किसी भी भाषा में ब्लॉगिंग कर सकते है 

ब्लॉगिंग करने के लिए आपको किसी खास भाषा को सिखने की जरुरत नहीं है। हालाँकि ब्लॉगिंग की शुरुआत अंग्रेजी भाषा में हुई थी लेकिन अब वक़्त बदल गया है और वर्तमान में आप किसी भी भाषा में ब्लॉग बना सकते है। 

कुछ इंसान सोचते है कि ब्लॉगिंग करने के लिए आपको अंग्रेजी आना जरुरी है। पर यह जानकारी गलत हैं अब जमाना बदल गया हैं और हर भाषा के लोग अपनी भाषा में ब्लॉग पढ़ने में अधिक रुचि रखते हैं।

आसान भाषा में समझे तो मान लीजिए आपको अंग्रेजी नहीं आती है और आपकी मातृभाषा हिन्दी या पंजाबी या उर्दू इत्यादि है। ऐसे में आप अपनी मातृभाषा में अपना ब्लॉग बना सकते है। 

ऐसी भाषा में बने हुए ब्लॉग को वह लोग ही पढ़ते है जो उस भाषा अच्छी तरह से पढ़ और समझ सकते है। और वह उसे अपनी भाषा में ही पढ़ना चाहते हैं।

ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए किसी technical knowledge की जरुरत नहीं है 

कुछ लोगों के मन में रहता है कि ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए इंसान को technical knowledge की जरुरत होती है हालाँकि यह सच नहीं है अगर आपके पास technical knowledge नहीं है तब भी आप आसानी से ब्लॉगिंग शुरू कर सकते है।

ब्लॉगिंग आप किसी भी विषय पर शुरू कर सकते है, अगर आपको टेक्नीकल नॉलेज है तो आप टेक्नीकल ब्लॉग बना सकते है और अगर आपको टेक्नीकल नॉलेज नहीं है तो आप किसी और विषय पर ब्लॉग बना सकते है। 

ब्लॉगिंग शुरू करने से पहले आपको लेपटॉप या कंप्यूटर या मोबाइल को अच्छी तरह से चलाना आना बहुत ज्यादा जरुरी है। इसके आलावा आपको इंटरनेट की थोड़ी बहुत जानकारी होने के साथ-साथ ऑनलाइन लिखने की भी जानकारी होनी आवश्यक है। 

Free blogging: ब्लॉगिंग मुफ्त में शुरू कर सकते है 

अगर आपके पास पैसे नहीं है तो भी आप आसानी से ब्लॉगिंग शुरू कर सकते है। आज के समय में कई सारे ऐसे platform मौजूद है जिन पर आप बिना पैसे खर्च किए ब्लॉग बना सकते है। 

आप चाहे तो google plateform blogger या wordpress Blog पर मुफ्त में ब्लॉग बना कर शुरुआत कर सकते है। उसके बाद जब आप ब्लॉग से पैसे कमाने लगे या जब अच्छा traffic आने लगे तब आप domain और hosting खरीद सकते है। 

Make business: दुसरो को जॉब दे सकते है 

शुरुआत में आप ब्लॉग खुद लिख सकते है लेकिन जब आपके ब्लॉग पर अच्छा traffic आने लगे और जब आपकी आय अच्छी खासी होने लगे तब आप ब्लॉग के लिए content writer को hire कर सकते है। ब्लॉगिंग की मदद से आप दूसरे इंसानो को job उपलब्ध करा सकते है। 

Improve business: व्यापार को बढ़ाने में मददगार 

ब्लॉगिंग के माध्यम से आप अपने या किसी अन्य के व्यापार को बढ़ा सकते है। वर्तमान में अधिकतर लोग कोई भी उत्पाद खरीदने से पहले उस उत्पाद के बारे में online research करते है।

ऐसे में आप भी अपने व्यापार के उत्पाद के बारे में जानकारी दे सकते है। ब्लॉगिंग के माध्यम से आप उत्पाद के बारे में जानकारी देने के साथ-साथ व्यापार को promote भी कर सकते है। 

Time management: खाली समय का उपयोग 

आप सभी ने एक कहावत तो सुनी ही होगी की खाली दिमाग शैतान का दिमाग। इसीलिए अगर आपके पास कोई काम नहीं है तो आप ब्लॉगिंग की शुरुआत कर सकते है। ब्लॉगिंग करने से आपका खाली समय भी बीत जाएगा और आने वाले समय में आप ब्लॉगिंग से पैसा भी कमा सकते है। 

Self expression: बेहतरीन content creator बनने में मददगार 

शुरुआत में जब कोई भी ब्लॉगर खुद ब्लॉगिंग शुरू करता है तो उसके लिखने की क्षमता उतनी बेहतर नहीं होती है। लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता है वैसे वैसे ब्लॉगर की लिखने की क्वालिटी और क्षमता बेहतर होती जाती है। ब्लॉगिंग करने के बाद आप एक अच्छे कंटेंट क्रिएटर बन सकते हैं और आप चाहे तो किसी कंपनी के लिए काम भी कर सकते है। 

Self respect: अलग पहचान दिलाने में मददगार 

प्रत्येक इंसान की चाहत होती है कि उसकी एक अलग पहचान हो, अपनी पहचान बनाने के लिए इंसान अलग-अलग काम करता है। अगर आप अपनी पहचान बनाना चाहते है तो ब्लॉगिंग आपके लिए बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है। 

जब कोई भी ब्लॉगर नया ब्लॉग बनाता है तो शुरुआत में ब्लॉग पर ट्रैफिक नहीं आता है। कुछ समय के बाद जब ट्रैफिक आने लगता है तब पब्लिक आपके बारे में जानने लगती है। जैसे जैसे आपका ब्लॉग पॉपुलर होता है वैसे-वैसे आपका नाम भी पॉपुलर होता है। ब्लॉगिंग एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जो आपको जीते जी पॉपुलर करता ही है और आपके दुनिया से चले जाने के बाद भी आपके नाम को पॉपुलर रखता है। 

ब्लॉगिंग के नुक्सान 

ब्लॉगिंग के फायदों के बारे में ऊपर पढ़ा, लेकिन किसी चीज के लाभ होते है तो कुछ नुक्सान भी देखने को मिलते है। हालाँकि ब्लॉगिंग के नुक्सान कम ही देखने को मिलते है लेकिन कुछ नुक्सान देखने को भी मिल सकते है जिसके बारे में हम आपको नीचे जानकारी उपलब्ध करा रहे है 

  • ब्लॉग को जल्दी से रेंक कराने के लिए डोमेन और होस्टिंग की जरुरत होती है। ऐसे में अगर आपके पास पैसे नहीं है तो आप डोमेन और होस्टिंग नहीं खरीद सकते है। 
  • काफी सारे इंसान ब्लॉग की शुरुआत तो कर लेते है लेकिन टॉपिक समझ में ना आने की वजह से वह ब्लॉग को बीच में ही छोड़ देते है, ऐसे में आपकी मेहनत बेकार जाती है। 
  • अधिकतर इंसान ब्लॉग का इस्तेमाल पैसा कमाने के लिए करते है, लेकिन अगर किसी भी कारणवश आपका एडसेंस अकाउंट बंद हो जाता है तो आपकी अर्निंग बंद हो जाती है। 
  • ब्लॉगिंग की वजह से इंसान को मानसिक कष्ट भी हो सकता है। दरसल जब कोई इंसान ब्लॉग बनाता है तो ब्लॉग पर अच्छे और बुरे दोनों तरह के कमेंट आते है। कुछ कमेंट आपको मानसिक रूप से परेशान कर सकते है। 

निष्कर्ष

हम आशा करते है कि आपको हमारे लेख ब्लॉगिंग के फायदे और नुक्सान में दी गई जानकारी पसंद आई होगी। अगर आपको हमारे लेख में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो हमारे इस लेख को अधिक से अधिक शेयर करके ऐसे लोगों के पास तक पहुँचाने में मदद करें जिन्हे ब्लॉगिंग के फायदों और नुक्सान बारे में जानकारी नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized by Optimole